कृषि विभाग की विभिन्न गतिविधियों पर दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित

कृषि विभाग द्वारा अपनी विविध गतिविधियों के बारे में राज्य कृषि प्रबन्धन एवं प्रसार प्रशिक्षण संस्थान मशोबरा में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता कृषि सचिव राकेश कंवर ने की।
इस अवसर पर कृषि सचिव ने अधिकारियों को प्राकृतिक खेती व कृषि उत्पादों को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न कदम उठाने के लिए दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आयोजित होने वाले मेले व अन्य कार्यक्रमों में स्टाल इत्यादि लगाकर विभाग की गतिविधियों का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कार्यशालाओं में आपसी संवाद के माध्यम से बेहतरीन परिणाम सामने आते हैं।
उन्होंने अधिकारियों को विभाग की योजनाओं एवं कार्यक्रमों को और प्रभावी बनाने के लिए विभिन्न दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फील्ड में कार्य करने वाले अधिकारियों को अपने अनुभवों के आधार पर अपने सुझाव प्रस्तुत करने चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को सदैव सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन करना चाहिए।
निदेशक कृषि डॉ. नरेन्द्र कुमार धीमान ने कहा कि कृषि विश्वविद्यालय द्वारा विकसित की गई विभिन्न तकनीकों को किसानों तक पहुंचाने के लिए नवोन्मेष प्रयास किए जाने चाहिए ताकि किसानों को लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को विभाग की विभिन्न योजनाओं की समय-समय पर समीक्षा करनी चाहिए।
इस अवसर पर विभाग की विभिन्न गतिविधियों के बारे में विस्तृत चर्चा की गई। कार्यशाला के प्रतिभागियों ने आपसी संवाद किया तथा अपने सुझाव भी दिए।
कार्यशाला में विभाग के समस्त वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।