घरो से कूड़ा उठाने वाले सैहब सुसाईटी के कर्मियों ने खोला मोर्चा, खाली पदों को न भरने पर किया प्रदर्शन,

 

घरो से कूड़ा उठाने वाले सैहब सुसाईटी के कर्मियों ने खोला मोर्चा, खाली पदों को न भरने पर किया प्रदर्शन, काम ठप्प करने की दी चेतावनी

राजधानी शिमला में लोगो की मुश्किलें बढ़ सकती है। शहर में घरो से कूड़ा उठाने वाले सैहब सुसाईटी के कर्मचारियों ने खाली पदों के न भरने पर मोर्चा खोल दिया है । सोमवार को सैहब सुसाईटी के कर्मचारियो ने नगर निगम ऑफिस के बाहर धरना प्रदर्शन किया और दस सितम्बर तक उनकी मांगे पूरी नही होती है तो शहर में घरो से कूड़ा उठाने का काम ठप्प कर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दे दी है।
कर्मचारियों का आरोप है कि सरकार द्वारा लम्बे समय से अनदेखी की जा रही है। अब इस अनदेखी का जवाब सरकार को इसी अंदाज़ में दिया जाएगा। सैहब यूनियन के अध्यक्ष जसवंत का कहना है कि सैहब के कर्मी ईमानदारी से काम कर रहे है । बावजूद सरकार और नगर निगम कर्मचारियों के हित में फ़ैसला नहीं ले रही है। यूनियन द्वारा नगर निगम में खाली पड़े पदों को सैहब सुसाईटी के कर्मियों से भरने की मांग कर रहा है।लेकिन इस ओर कोई ध्यान नही दिया जा रहा है।
जसवंत सिंह ने कहा कि इसको लेकर 6 महीने पहले शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज को भी ज्ञापन सौंपा गया लेकिन अभी तक उसका जवाब नहीं मिला। वही अब सब्र का बांध टूट चुका है । कर्मचारी पूरा दिन शहर में सफाई का काम करता है बिना किसी छुट्टी के काम किया जाता है निगम प्रशासन का इस तरह अनदेखी करना स्वीकार्य नहीं है।उन्होंने कहा कि 10 सितम्बर तक इसी तरह धरना प्रदर्शन किया जाएगा यदि फिर भी सैहब यूनियन के हित में कोई फैसला नहीं आता तो शहर में कूडा़-कचरा नहीं उठाया जाएगा। सफाई व्यवस्था यूनियन द्वारा पूरी तरह बंद की जाएगी।