छोटे से गांव के बच्चे ने अपनी कला से मोहा सबका दिल , कल्लू में हुई राज्यस्तरीय कला उत्सव में पाया द्वितीय पुरस्कार

 

छोटे से गांव के बच्चे ने अपनी कला से मोहा सबका दिल , कल्लू में हुई राज्यस्तरीय कला उत्सव में पाया द्वितीय पुरस्कार

पुराने युग में इस्तेमाल किए जाने वाली चीजों को तैयार किया अपनी कला द्वारा

 

 

 

नूरपुर ब्लाक के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुखेड के बच्चों ने राज्य स्तरीय कला उत्सव में अपनी कला का प्रर्दशन किया जिसमें पाठशाला के एक छात्र ने पुराने जमाने में इस्तेमाल किए जाने वाली विभिन्न चीजों को तैयार करके अपनी कला का प्रर्दशन किया तथा राज्य स्तरीय कला उत्सव में द्वितीय पुरस्कार जीता। इस राज्य स्तरीय कला उत्सव में हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों से बच्चे अपनी अपनी कला का प्रर्दशन करने पहुंचे हुए थे ।

पुरस्कार विजेता इशान ने कहा कि मैं राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुखेड में नौवीं कक्षा का छात्र हूं मैं पुराने युग की विभिन्न इस्तेमाल होने वाली चीजें बनाई है मुझे यह शौक बचपन से है मैंने स्कूल की तरफ से पहले ब्लाक लेवल फिर जोनल लेवल और अब राज्यस्तरीय कला उत्सव प्रतियोगिता में भाग लिया है मै ब्लाक तथा जोनल में प्रथम स्थान पर रहा तथा राज्य स्तर पर द्वितीय स्तर रहा हूं।
मन्नत ने कहा कि मैं 10+2 की छात्रा हूं मुझे गायन का बचपन से शौक तथा मैंने स्कूल की तरफ से पहले ब्लाक लेवल फिर जोनल लेवल, फिर राज्य स्तरीय पर कला उत्सव में भाग लिया है मै ब्लाक लेवल,जोनल लेवल प्रथम रही हूं और राज्य स्तरीय कला उत्सव में द्वितीय स्थान पर रही हूं
दसवीं कक्षा की दिवंशी पठानिया ने कहा कि मैंने कला उत्सव प्रतियोगिता में सोलो डांस में भाग लिया मुझे बचपन से शौक था कि मैं एक्टिंग करु।मैंने पहले ब्लाक लेवल फिर जोनल भाग लिया जिसमें प्रथम रही हूं और जिला स्तर में द्वितीय रही हूं मैं स्कूल के सभी अध्यापकों अध्यापिकाओं तथा बच्चों का धन्यवाद करती हूं जिन्होंने मुझे इस काम के लिए सहयोग किया है और मैं भी मेहनत करूंगी और नशेनल लेवल में जाकर जीत हासिल करुंगी

स्कूल प्रधानाचार्य रमन रानी ने कहा कि हमारे स्कूल के बच्चें इस बार राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत कला उत्सव का आयोजन किया जाता है इसके लिए पहले ब्लाक लेवल, फिर जोनल लेवल उसके बाद जिला स्तरीय धर्मशाला में भाग लिया जिसमें बच्चों का प्रदर्शन बहुत बढ़िया रहा जिसमें दिवानशी मन्नत धर्मशाला में दूसरे स्थान पर रही और इशान जिला स्तर पर प्रथम स्थान पर रहा इशान की कला स्थानिय परंपरारिक खिलौने थी जिसमें इसने बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया । इसके बाद इशान का चयन राज्यस्तरीय के लिए हुआ जिसमें इशान ने कल्लू में राज्य स्तरीय कला उत्सव में भाग लिया तथा वहां द्वितीय स्थान हासिल किया इस प्रतियोगिता में हिमाचल के 12 जिलों से बच्चों ने भाग लिया । मेरी इच्छा है कि यह बच्चा ओर मेहनत करें और अगले साल नेशनल लेवल जीत हासिल करके स्कूल और गांव व हिमाचल का नाम रोशन करें ।इन बच्चों को स्कूल के अध्यापकों ने बहुत सहयोग किया है मैं उनका भी धन्यवाद करता हूं।