Latest Posts

दूसरों को नसीहत देने से पहले पहले अपनी भाषा सुधारें सीएम जिस भाषा में करेंगे बात उसी भाषा में देंगे जवाब, मुकेश अग्निहोत्री

 

दूसरों को नसीहत देने से पहले पहले अपनी भाषा सुधारें सीएम जिस भाषा में करेंगे बात उसी भाषा में देंगे जवाब, मुकेश अग्निहोत्री

शिमला :- हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष  के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है बीते दिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा नेता प्रतिपक्ष  मुकेश अग्निहोत्री को पागलपन के दौरे पढ़ने  का बयान दिया था जिस पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने उन्हें अपनी भाषा सुधारने की नसीहत दी है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जिस भाषा में बात करेंगे उसी शैली में उन्हें जवाब दिया जाएगा। मुख्यमंत्री  अपना आचरण सुधार लें। कांग्रेस उनकी धमकी से डरने वाली नही है और किसी  गलतफहमी में मुख्यमंत्री न  रहे । उन्होंने  कहा इस सरकार के दो महीने  रह गए हैं ।  सत्ता हाथ से निकल रही है जमीन खिसक रही है और  मुख्यमंत्री बौखला गए  है ओर कह रहे है कि  नेता विपक्ष को दिमागी दौरे पड़ते हैं ओर पागलपन का शब्द भी प्रयोग  किया  है।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  सुबह उठकर हेलीकॉप्टर उठा कर चलते हैं  100 करोड़ 200 करोड़  के कार्यो की घोषणा करते है। 2 महीने में एक शौचालय नहीं बनता ओर मुख्यमंत्री 500 करोड़ की घोषणा कर रहे है।   एक ही जगह खड़े होकर  शिलान्यास के बोर्ड लगा देते हैं  लेकिन उसके लिए जमीन है भी या नही इसकी जानकारी तक नही है।

उन्होंने कहा कि विधायकों से ही मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष बनता है भाजपा मैं भी कई नेता प्रतिपक्ष रहे लेकिन उनके साथ हमेशा आदर से बात की गई और मुख्यमंत्री यह आदमी वह आदमी कह कर बात कर रहे हैं भाजपा में विधायक दल का नेता कोई और था और मुख्यमंत्री की  उसकी वजह से यह सत्ता में नहीं आए हैं मुख्यमंत्री ज्यादा खुलासा करने के लिए मजबूर ना करें और जिस तरह से वो डराने धमकाने की कोशिश कर रहे हैं उसे सुधार ले और जैसी शैली मैं वह बात करेंगे उसे उसमें ही जवाब भी दिया जाएगा ।

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री को गुस्सा क्यों आ रहा है विपक्ष का काम मुद्दे उठाना है और बेरोजगारों की बात करना है प्रधानमंत्री हिमाचल दौरे पर आए और हिमाचल को प्रधानमंत्री से कुछ नहीं मिला बल्कि युवाओं को 48 घंटे तक से जेल में बंद कर दिया प्रदेश में कांग्रेस युवाओं के मुद्दों को उठा रही है भाजपा  जहां 4 साल की नौकरी दे रही है वहीं कांग्रेस 40 साल की स्थाई नौकरी देने के साथ ही पेंशन देने का भी प्रावधान कर रही है भाजपा शासनकाल में  नौकरियां चोर दरवाजे से दी गई  है कांग्रेस मेरिट पर देने की बात कर रही है प्रदेश में सड़क विकास और पानी वाले मुख्यमंत्री रहे लेकिन यह पहले मुख्यमंत्री होंगे जो नौकरी बेचने वालों के मुख्यमंत्री में शामिल होंगे उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अदब से बात करना सीख ले इज्जत मुफ्त में मिलेगी और जैसी भाषा में बात करेंगे उसी भाषा में उनको जवाब भी दिया जाएगा।