प्रदेश भर में भारी बारिश से हो रही तबाही के बाद सुप्त अवस्था में सरकार, आम जनता हो रही परेशान- सिंघा

प्रदेश भर में भारी बारिश से हो रही तबाही के बाद सुप्त अवस्था में सरकार, आम जनता हो रही परेशान- राकेश सिंघा,,विधायक राकेश सिंघा की सरकार से मांग, राहत राशि को 5 हजार से बढ़ाकर किया जाए 60 हजार

 

इस साल मॉनसून में हो रही बारिश ने प्रदेश भर में जमकर तबाही मचाई है. मॉनसून में अब तक करीब 249 लोगों की जान जा चुकी है और प्रदेश भर में करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है. मॉनसून में हो रही तो तबाही के बीच सरकार की ओर से दी जाने वाली राहत में सरकार की भूमिका पर माकपा विधायक राकेश सिंघा ने सवाल खड़े किए हैं.

ठियोग विधानसभा क्षेत्र से माकपा विधायक राकेश सिंघा ने कहा कि मॉनसून में हो रही तबाही के बाद सरकार सुप्त अवस्था में नजर आ रही है. उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से जो महत्वपूर्ण कदम उठाए जाने चाहिए, वह कहीं भी नजर नहीं आ रहे हैं. राकेश सिंघा ने कहा कि मानसून में आपदा में तबाह होने वाले घर के मकान मालिक को केवल पांच हजार की राहत राशि दी जाती है, जो नाकाफी है. उन्होंने सरकार से मांग की है कि सरकार अध्यादेश लाकर इस राहत राशि को बढ़ाकर 60 हजार रुपए करे.

राकेश सिंघा ने कहा कि ऊपरी शिमला में भारी बारिश की वजह से कई सड़कें बंद हैं. गांव में बिजली नहीं है और आम जनता का जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है. उन्होंने कहा कि इन दिनों सेब सीजन पीक पर है और बिजली न होने की वजह से बागवान परेशान हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिन सेबों का तुड़ान हो चुका है, उसे भी गोदाम तक नहीं पहुंचाया जा सका है. उन्होंने मांग की है कि सरकार जल्द से जल्द बागवानों को राहत प्रदान करें.