Latest Posts

फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने प्रदेश सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा,पँचायत भवन से डीसी ऑफिस तक निकाली रैली,आमरण अनशन की दी चेतावनी

 

,,फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने प्रदेश सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा,पँचायत भवन से डीसी ऑफिस तक निकाली रैली,आमरण अनशन की दी चेतावनी

,,,हिमाचल फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने प्रदेश सरकार के भर्ती एवं पदोन्नति नियमों को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। प्रदेश भर से आई एएनएम फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने दाेपहर बाद पंचायत भवन से लेकर उपायुक्त कार्यालय तक रैली निकाली। इस दाैरान सरकार हेल्थ वर्कर्स ने खिलाफ नारेबाजी की। एएनएम फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने सरकार पर आरएंडपी नियमों की अनदेखी का आरोप लगाया है। इसके अलावा बैच वाइज में 50 फीसदी काेटे के तहत सरकारी भर्तियाें में भर्ती करवाने की मांग की है।

हिमाचल प्रदेश फीमेल हेल्थ वर्कर्स संघ की अध्यक्ष सुर्दशना कुमारी ने कहा कि सरकार भर्तियों में जीएनएम और बीएससी नर्सिंग को भर्ती में तरजीह दी जा रही है। जबकि हमारे साथ अन्याय हाे रहा है। पिछले काफी समय से प्रदेश सरकार ने नियमों की अनदेखी कर जीएनएम और बीएससी नर्सिंग की छात्राओं को नौकरी में खूब माैका दिया है, जबकि उन्हें न ताे प्रमाेशन दी जा रही है और न ही सरकारी नाैकरी में सीधी भर्ती के लिए काेटा दिया जा रहा है।हिमाचल प्रदेश फीमेल हेल्थ वर्कर्स संघ का आराेप है कि एएनएम वर्कर्स ने कोविड काल में घर-घर जाकर वैक्सीनेशन करने में अहम भूमिका निभाई। लेकिन एएनएम वर्कर्स को न तो उतना वेतन मिल पा रहा है और न ही नौकरी में तरजीह दी जा रही है। जबकि नौकरी के लिए भी अब सरकार द्वारा आरएंडपी नियमों में भी नियमों को दरकिनार किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को लेकर कई बार स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री से मिल चुके है लेकिन प्रदेश सरकार हमारी ओर बिलकुल ध्यान नही दे रही है।उन्होंने कहा कि ऐसे में  सिर्फ आंदोलन करने के का रास्ता ही बचा है। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार डिप्लोमा प्राप्त एएनएम को नौकरी में तरजीह नहीं देती है, तब तक उनका आंदोलन चलता रहेगा।उन्होंने कहा कि अगर सरकार हमारी मांगे नही मानती तो मजबूरन हमे आमरण अनशन पर जाना पड़ेगा