Latest Posts

भाजपा के दो ही काम, एक विधायक खरीदो, दूसरा दोस्तों का कर्जा माफ करो, बुंदेलखंड एक्सप्रेस की क्यो नही करवा रहे जांच: सुरजीत

भाजपा के दो ही काम, एक विधायक खरीदो, दूसरा दोस्तों का कर्जा माफ करो, बुंदेलखंड एक्सप्रेस की क्यो नही करवा रहे जांच: सुरजीत

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर सीबीआई की कार्यवाई को लेकर आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर निशाना साधा है और भाजपा पर आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने के आरोप लगाए है। आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुरजीत ठाकुर ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता में मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि विधायकों को खरीदने के लिए भाजपा सरकार जनता पर टैक्स लगाती है। जिससे ही महंगाई बढ़ रही है। भाजपा सरकार के दो ही काम है, प्रदेशों में विधायकों को खरीदकर सरकार बनाओं और अपने दोस्तों का कर्जा माफ करो। इन कामों के लिए भाजपा सरकार को पैसों की जरुरत होती है, जिसके कारण टैक्स लगाया जाता है। महराष्ट्र में सरकार गिराने के लिए विधायकों को खरीदा गया और सरकार ने जनता के खाने पीने की चीजों दूध, दही, आटा और चावल पर टैक्स लगा दिया।

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुरजीत ठाकुर ने कहा कि भाजपा नेता जवाब दें कि विधायकों को खरीदने के लिए पैसा कहां से आता है। यह पैसा भ्रष्टाचार के माध्यम से आता है, जिसका बोझ जनता के ऊपर महंगाई के रुप में पड़ रहा है। जनविरोधी सरकार को जनता से कोई लेना देना नहीं है, यह सत्ता के नशे में चूर दूसरों की सरकार गिराकर अपनी सरकार बनाने के लिए भ्रष्टाचार कर रही है। भाजपा ने गोवा,कर्नाटक, मध्यप्रदेश, असम मणिपुर, मेघालय और महाराष्ट्र की सरकार गिराई है।
सुरजीत ठाकुर ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली में अपनी सरकार बनाने के लिए आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने का प्रयास किया। एक-एक विधायक को 20 करोड़ देने का ऑफर दिया। दिल्ली में भाजपा को सरकार बनाने के लिए 40 विधायकों की जरुरत थी। तो भाजपा बताए कि उसके पास 40 विधायकों को खरीदने के लिए 800 करोड़ रुपए कहां से आए। भाजपा जनता पर टैक्स लगाकर पैसा वसूलती है और भ्रष्टाचार कर विधायकों को खरीदती है। बुंदेलखंड में प्रधानमंत्री एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया था और उद्घाटन के पांचवे दिन एक्सप्रेस वे धंस गया, कोई सीबीआई जांच नहीं हुई, उल्टा उन्ही को और ठेके दे दिए, मोदी जी अगर दम है तो हिमाचल और गुजरात चुनाव से पहले इनकी CBI /ED जांच करवा कर दिखाए ।