Breaking News

मुख्यमंत्री ने अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी जयंती पर दी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री ने अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी जयंती पर दी श्रद्धांजलि

 

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी 95वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

 

मुख्य समारोह कुल्लू जिला के मनाली के प्रीणी तथा मनाली में अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोही संस्थान में आयोजित किया गया। प्रीणी में मुख्यमंत्री ने पूजा-अर्चना की तथा महान नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की।

 

मुख्यमंत्री ने प्रीणी ‘एक बूटा बेटी के नाम’ योजना का भी शुभारम्भ किया। इस योजना के तहत नवजात कन्याओं के जन्म के समय उनके परिवारों को बेबी किट के साथ पांच पौधे भेंट किए जाएंगे। उन्होंने नवजात कन्याओं की माताओं को पांच देवदार के पौधें भेंट किए। इसके अलावा 20 किलोग्राम बर्मी-कम्पोस्ट, पांच ट्री गार्ड ओर कन्या की नाम पट्टिका भी परिवार के सदस्यों को भेंट की।

 

मुख्यमंत्री ने अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली में वरिष्ठ नेताओं, अधिकारियों और लोगों के साथ अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं जयंती के अवसर पर विज्ञान भवन नई दिल्ली से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्बोधन को भी सुना।

 

इस अवसर पर राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने ‘रोहतांग टनल’ का नाम पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर ‘अटल टनल’ रखने की घोषणा की।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर 6000 करोड़ रुपये की ‘अटल भूजल योजना’ का भी शुभारम्भ किया। इस योजना के अन्तर्गत देश के सात राज्यों के 78 जिलों को शामिल किया जाएगा।

 

इस अवसर पर लोगों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने हमेशा हिमाचल प्रदेश को अपना दूसरा घर माना और कुल्लू जिला के प्रीणी में उनका घर है। वह अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकाल कर प्रदेश में आना पसंद करते थे। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान न केवल मनाली की यात्रा ही करते थे, बल्कि कवि सम्मेलन का आयोजन कर अपनी मनपसंद कविताओं का पाठ किया करते थे। इतना ही नहीं, उन्होंने मनाली पर एक कविता भी लिखी थी, जो इस शहर का जीवंत चित्रण करती है।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी एक बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे और वह एक महान राजनेता होने के अलावा एक उत्कृष्ट वक्ता, भावुक कवि और समर्पित पत्रकार थे। उनका हिमाचल प्रदेश तथा यहां के लोगों के प्रति हमेशा विशेष व उदारतापूर्ण दृष्टिकोण रहा। उन्होंने कहा कि वाजपेयी जी ने हिमाचल प्रदेश को विभिन्न महत्वाकांक्षी परियोजनाओं की स्वीकृति देकर अपना प्रेम और स्नेह दर्शाया। उन्होंने कहा कि पर्वतारोहण संस्थान मनाली, अटल सदन कुल्लू और शिमला रिज मैदान में अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि रोहतांग टनल के निर्माण की कल्पना तथा इस परियोजना की घोषणा भी स्वर्गीय श्री वाजपेयी ने की थी, यह टनल दुनिया के बाकी हिस्सों को लाहौल घाटी से जोडेगी। उन्होंने कहा कि यह परियोजना श्री वाजपेयी का प्रदेश को बहुत बड़ा उपहार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के उपरान्त मंत्रिमण्डल की प्रथम बैठक में ही प्रस्ताव पारित कर रोहतांग टनल का नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर ‘अटल टनल’ रखने का केन्द्र सरकार से आग्रह किया था। उन्होंने केन्द्र सरकार का प्रदेश सरकार के सुझाव पर महान नेता के सम्मान में रोहतांग टनल का नाम ‘अटल टनल’ रखने के लिए आभार प्रकट किया।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस टनल के माध्यम से लाहौल-स्पिति जिला हर मौसम में देश के अन्य भागों से जुड़ा रहेगा और यह टनल पर्यटकांे को भी इस खूबसूरत जिले के लिए आकर्षित करेगी। उन्होंने कहा कि यह सुरंग सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस माह की 27 तारीख को दो वर्ष का कार्यकाल पूर्ण कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के लोगों के सामाजिक तथा आर्थिक उत्थान के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के परिणाम और उसके बाद उप-चुनावों में जीत, राज्य सरकार के प्रति प्रदेश के लोगों के विश्वास को दर्शाती है।

जय राम ठाकुर ने राज्य स्तरीय ‘सर्वश्रेष्ठ शहर पुरस्कार’ भी प्रदान किया। उन्होंने नगर परिषद् सुन्दरनगर को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए एक करोड़, नगर पंचायत चैपाल को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए 75 लाख, नगर परिषद रामपुर तथा नूरपुर को स्वच्छता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए पांच लाख, नगर परिषद रामपुर व नूरपुर के सार्वजनिक सेवा प्रदान करने के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए पांच लाख रुपये, नगर पंचायत स्वच्छता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली अर्की को पांच लाख, सार्वजनिक सेवा प्रदान करने में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली नगर पंचायत राजगढ़ को पांच लाख रुपये का पुरस्कार वर्ष 2018 के लिए प्रदान किए।

 

उन्होंने नगर परिषद् पालमपुर को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए एक करोड़, नगर पंचायत राजगढ़ को 75 लाख, नगर परिषद श्री नैना देवी जी को स्वच्छता श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए पांच लाख, नगर परिषद् बिलासपुर को सार्वजनिक सेवा प्रदान करने में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए पांच लाख, नगर पंचायत सरकाघाट को स्वच्छता के लिए पांच लाख, नगर पंचायत नादौन को सार्वजनिक सेवा प्रदान करने के लिए पांच लाख रुपये पुरस्कार वर्ष 2019 के लिए प्रदान किए।

 

मुख्यमंत्री ने राज्य कला, भाषा और संस्कृति विभाग द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी पर प्रकाशित एक पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक का सम्पादन डाॅ. इन्द्र सिंह ठाकुर ने किया है। उन्होंने इस अवसर पर ‘एक बूटा बेटी के नाम’ प्रतीक चिन्ह भी जारी किया।

 

शहरी विकास मंत्री सरवीन चैधरी ने कहा कि ‘अटल श्रेष्ठ शहर पुरस्कार’ प्रदेश के शहरों की स्वच्छता बनाए रखने के लिए जिम्मेदारी के साथ काम करने के लिए राज्य में नगरपालिकाओं को प्रेरित करने के लिए राज्य सरकार का एक प्रयास है।

परिवहन एवं वन मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी का प्रदेश और मनाली के प्रति विशेष लगाव था। उन्होंने कहा कि ‘एक बूटा बेटी के नाम’ योजना प्रदेश में हरित आवरण को बढ़ाने में एक लम्बा रास्ता तय करेगी, क्योंकि नवजात बालिकाओं के जन्म पर प्रत्येक परिवार को पांच पेड़ प्रदान किए जाएंगे।

 

सांसद रामस्वरूप शर्मा, विधायक सुरेन्द्र शौरी, पूर्व सांसद महेश्वर सिंह, हिमाचल प्रदेश मार्केटिंग कमेटी के उपाध्यक्ष राम सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव राम सुभग सिंह, सचिव शहरी विकास सी. पाॅलरासु, निदेशक शहरी विकास राम कुमार गौतम, प्रधान मुख्य अरण्यपाल वन अजय कुमार, उपायुक्त कुल्लू डाॅ. रिचा वर्मा, निदेशक पर्वतारोहण संस्थान कर्नल नीरज राणा, पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह अन्य लोग इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

इसके उपरान्त मनाली के निकट शुरु गांव में एकत्रित जन समूह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रीणी तथा शुरु गांव के लोग सौभाग्यशाली है कि अटल बिहारी वाजपेयी इन गांवों से सम्बन्ध रखते थे उनका ग्रामवासियों के प्रति बहुत प्रेम था।

मुख्यमंत्री ने पर्यटकों तथा आगंतुकों की सुविधा के लिए मन्दिर सराय के निर्माण के लिए 10 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सांसद रामस्वरूप तथा वन मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर भी पांच-पांच लाख रुपये इसके लिए उपलब्ध करवाएंगे। उन्होंने घोषणा की कि अर्जुन गुफा को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा। उन्होंने गांव की सड़क को सुधारने तथा ग्रामवासियों को पर्याप्त पेजयल सुविधा उपलब्ध करवाने की घोषणा की।

 

इस अवसर पर परिवहन एवं वन मंत्री ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्यों का स्वागत किया।

 

अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस के अवसर पर शुरु गांव के लोगों ने माता शरबरी मन्दिर परिसर में प्रीतिभोज का आयोजन किया।

Leave a Reply

Our Visitor

0 2 5 8 8 8
Users This Month : 381
x

Check Also

राज्यस्तरीय शूलिनी मेले में लगाई गई गौवंश प्रदर्शनी, भारतीय नस्लों की गाय ने लिया हिस्सा,स्वास्थ्य मंत्री ने किया शुभारंभ

  राज्यस्तरीय शूलिनी मेले में लगाई गई गौवंश प्रदर्शनी, भारतीय नस्लों की गाय ने लिया ...