Breaking News

मुख्यमंत्री ने उद्यमियों से पर्यटन एवं खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्रों में निवेश का आग्रह किया

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज धर्मशाला में आयोजित की जा रही राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के दूसरे दिन इस आयोजन में शामिल हुए इच्छुक निवेशकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने के लिए पहली बार एक ‘हाॅलिस्टिक’ दृष्टिकोणी अपनाते हुए कार्य आरम्भ किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह प्रदेश फल उत्पादन में अपार संभावनाएं से युक्त तथा यह प्रदेश देश के फल राज्य के नाम से जाना जाता है। उन्होंने कहा कि अपनी विविध जलवायु होने के कारण यहां पर विभिन्न प्रकार के फलों का उत्पादन किया जाता है। उन्होंने कहा कि फल एवं खाद्य प्रसंस्करण में निवेश के लिए राज्य में अपार संभावनाएं हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि इस प्रदेश की उपयुक्त जलवायु और यहां की विविधतापूर्ण स्थलाकृति प्रदेश को विभिन्न प्रकार के औषधीय पौधों के उत्पादन के लिए उपयुक्त बनाती है। राज्य सरकार सभी उद्यमियों, जो प्रदेश में निवेश करने की इच्छा रखते हैं, के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी।
उन्होंने पर्यटन, आरोग्य और आयुष के समझौता ज्ञापन धारकों के साथ भी बैठक की और कहा कि प्रदेश में पर्यटन क्षेत्र में उद्यमियों को साहसिक, वन्य प्राणी, ईको टूरिज्म, धरोहर, अध्यात्मिक, स्मारक, धार्मिक, स्किइग आदि जैसी गतिविधियों में निवेश की व्यापक संभावनाएं विद्यमान हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में सतत पर्यटन प्रदेश में विकास की गति को बढ़ावा देने के प्रति वचनबद्ध है।
उन्होंने कहा कि यहां पर 300 फार्मा कम्पनियां और 700 से अधिक फार्मा उत्पाद इकाइयां कार्यरत है। इस प्रदेश को एशिया के औषधीय हब के रूप से भी जाना जाता है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में निवेश को बढ़ावा देने के लिए औद्योगिकी नीति के तहत विभिन्न प्रकार के आकर्षक प्रोत्साहन उपलब्ध करवा रही है तथा सरकार ने प्रदेश को और अधिक आकर्षक एवं उद्योग-मित्र बनाने के उद्देश्य से पर्यटन, आयुष, सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलैक्ट्रोनिक्स और जल विद्युत के क्षेत्रों में नीति में आवश्यक संशोधन किए हैं।
आवास, शहरी विकास और परिवहन के समझौता ज्ञापन धारकों के साथ बैठक करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार उद्यमियों को उनकी परियोजना को समयबद्ध तरीके से स्वीकृति प्रदान करने में एक ‘सुविधा कारक’ की भूमिका निभाएगी ताकि वे बिना किसी विलम्भ के अपना कार्य आरम्भ कर सकें।
उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने प्रदेश में निवेश हब के रूप में उभरा रहा है।
शहरी विकास मंत्री सरवीण चैधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 30 दिनों के भीतर गृह निर्माण के नक्शों की स्वीकृति प्रदान करने का निर्णय लिया है।
मुख्य सचिव डाॅ. श्रीकांत बाल्दी, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग मनोज कुमार, निदेशक उद्योग हंस राज शर्मा, निदेशक पर्यटन युनूस, निदेशक शहरी विकास ललित जैन भी अन्य सहित इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Our Visitor

0 2 6 0 0 1
Users This Month : 494
x

Check Also

व्यक्ति की मौत के बाद सवालों के घेरे में igmc प्रशासन , परिजनों के सवालों पर क्या बोले ms डॉ जनकराज

फिर सवालों के घेरे में आईजीएमसी प्रशासन, कार्डियोलॉजी डिपार्टमेंट में मरीज की मौत के बाद ...