Latest Posts

मुख्यसचिव ने आजादी का अमृत महोत्सव के आयोजन को लेकर बैठक की अध्यक्षता की

प्रदेश में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम के आयोजन की तैयारियों के बारे में आज यहां आयोजित बैठक की अध्यक्षता मुख्य सचिव अनिल खाची ने की। आजादी का अमृत महोत्सव भारत की स्वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए सरकार द्वारा आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की एक श्रृंखला है। यह महोत्सव जन भागीदारी की भावना में एक जन उत्सव के रूप में मनाया जाएगा।

इस अवसर पर मुख्य सचिव ने आयोजन से संबंधित विभागों को सभी तैयारियां समयबद्ध पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति में सुधार होने के उपरांत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस आयोजन के तहत आगामी वर्ष तक राज्य व जिला स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए विभिन्न स्तरों पर चार तरह की कमेटियां गठित की जाएंगी।

अनिल खाची ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रमों की श्रृंखला के दौरान स्कूल, जिला व राज्य स्तर पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। इसके अलावा शैक्षणिक संस्थानों में भी विभिन्न प्रकार की प्रतिस्पर्धाओं का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, केंद्रीय विश्वविद्यालय तथा भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान द्वारा सेमिनार का आयोजन भी किया जाएगा।

उन्होंने आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के दौरान प्रदेश में स्वतंत्रता संग्राम से संबंधित महत्वपूर्ण घटनाओं व स्थानों के संबंध में भी कार्यक्रम आयोजित करने की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस आयोजन के तहत स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित किए जाने वाले विभिन्न समारोहों में स्वतंत्रता सेनानियों तथा दिवंगत  स्वतंत्रता सेनानियों की पत्नियों को सम्मानित किया जाएगा।

इस आयोजन के तहत हिमाचल का स्वतंत्रता संग्राम में योगदान विषय पर काॅफी टेबल बुक भी प्रकाशित की जाएगी और थीम साॅंग भी तैयार किया जाएगा। उन्होंने इस आयोजन के दौरान किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की डाॅक्यूमेंटेशन करने तथा इस कार्यक्रम में जन भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान, सचिव शिक्षा राजीव शर्मा, सचिव युवा सेवाएं एवं खेल डाॅ. एसएस गुलेरिया, निदेशक युवा सेवाएं एवं खेल विभाग गोपाल चंद, निदेशक सूचना एवं जन सम्पर्क हरबंस सिंह ब्रसकोन, निदेशक भाषा, कला एवं संस्कृति सुनील शर्मा, निदेशक उच्च शिक्षा अमरजीत शर्मा, अवर सचिव मंजीत बंसल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।