राजधानी शिमला में फूड फेस्टिवल के दूसरे दिन उमड़ी पर्यटकों,स्थानीय लोगो की भारी भीड़ बिच्छू बूटी की चाय रही आकर्षण का केंद्र

राजधानी शिमला में फूड फेस्टिवल के दूसरे दिन उमड़ी पर्यटकों,स्थानीय लोगो की भारी भीड़

बिच्छू बूटी की चाय रही आकर्षण का केंद्र

 

राजधानी शिमला के रिज मैदान पर ग्रामीण विकास विभाग की ओर से दस दिवसीय फूड फेस्टिवल के दूसरे दिन पर्यटकों व स्थानीय लोगो की भारी भीड़ उमड़ी।इस फेस्टिवल में इतनी भीड़ थी लोगो का हिलना भी मुश्किल हो रहा था हर एक फ़ूड स्टॉल पर भीड़ थी।पर्यटकों सहित स्थानीय लोगों ने हिमाचली व्यंजनों का भरपूर आनंद उठाया।
फूड फ्रेस्टिवल में कुल्लूृ स्टाल में बिच्छू बूटी की चाय स्थानीय लोगों व पर्यटकों  के आकर्षण का केंद्र रही। इस चाय का स्वाद चखने के लिए काफी स या में लोगों की भीड़ स्टाल पर लगी रही। वहीं स्टाल में स्वयं समूह की महिलाओं ने इसके गुणों के बारे में भी अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि यह यूरिक एसिड के मरीजों के लिए काफी कारगर साबित होती है। इसके अलावा स्टाल में कोदे के आटे के सिड्डू भी आकर्षण का केंद्र रहा। बता दें कि यहां पर प्रदेश के 12 जिलों से अलग अलग सेल्फ हेल्प ग्रुप में शामिल महिलाओं ने खाने पीने के स्टॉल के अलावा हेंडलूम उत्पाद भी यहां पर बेचने के लिए रखे गए हैं। इस फूड फेस्टिवल में मंडी की कचौरी, अपर शिमला का सिड्डू, कांगड़ा का मदरा, शिमला-सोलन का अमला कद्दू, माल पूड़ा, खीर, मीठा कद्दू, मीठा बदाना, मक्की की रोटी, मक्की का परांठा सहित कई अन्य पकवान लोगों को मिलेंगे। खास बात ये है कि ये सभी पारंपरिक व्यंजन सेल्प हेल्फ ग्रुप की महिलाओं की ओर से बनाए जा रहे हैं।