Breaking News

राज्यपाल ने सोलन जिला में कल्याणकारी योजनाओं का लिया जायजा

राज्यपाल ने सोलन जिला में कल्याणकारी योजनाओं का लिया जायजा
हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने गत देर सांय सोलन में जिला के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ केन्द्र एवं राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता की।
बंडारू दत्तात्रेय ने इस अवसर पर अधिकारियों से आग्रह किया कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के विषय में जानकारी पहुंचाईं जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों को ग्राम स्तर पर इस कार्य के लिए जागरूकता शिविर आयोजित करने चाहिएं।
उन्होंने विशेष रूप से कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उद्योग एवं रोज़गार तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से आग्रह किया कि अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की पूरी जानकारी लोगों तक पहुंचाएं।
राज्यपाल ने कहा कि कृषि विभाग को यह प्रयास करना चाहिए कि जिला के सभी किसान प्राकृतिक खेती को अपनाएं। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती जहां कृषि योग्य भूमि के लिए सर्वथा उपयुक्त है वहीं यह कृषक के लिए आर्थिक रूप से लाभप्रद भी है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती के उत्पाद सभी के लिए स्वास्थ्यवर्धक हैं।
बंडारू दत्तात्रेय ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि विद्यालय स्तर पर शिक्षा में समग्र गुणवत्ता सुनिश्चित बनाई जाए। उन्होंने कहा कि छात्रों को गुणवत्तायुक्त, उद्देश्यपरक, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ओतप्रोत एवं रोजगारोन्मुखी शिक्षा प्रदान करना आवश्यक है। उन्होंने बदलते परिवेश के अनुरूप अध्यापकों के नियमित प्रशिक्षण पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि युवाओं को परिश्रम, समर्पण जैसे गुण विकसित करने के साथ नैतिक शिक्षा की दिशा में भी जागरूक किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को देश एवं विश्व के इतिहास, भूगोल एवं समसामायिक विषयों की सारगर्भित जानकारी दी जानी चाहिए।
उन्होंने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि जिला में विभिन्न विद्यालयों में अध्यापकों के रिक्त पड़े पदों की जानकारी प्रदान करें। उन्होंने कहा कि युवाओं को स्वच्छता एवं फिट इंडिया कार्यक्रमों के बारे में भी जागरूक बनाया जाए। उन्होंने कहा कि स्वच्छता जहां विकास के लिए आवश्यक है वहीं फिट इंडिया युवाओं को स्वस्थ रखने की दिशा में महत्वपूर्ण पग है।
उन्होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि जल संरक्षण के लिए आमजन के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य करें। उन्होंने ग्राम स्तर पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के सुदृढ़ीकरण पर भी बल दिया।
राज्यपाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे क्षेत्रीय स्तर पर विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के कार्यान्वयन की जानकारी प्राप्त कर प्रदेश सरकार को उचित फीडबैक प्रदान करें।
बंडारू दत्तात्रेय ने लोक निर्माण विभाग को सभी स्तरों पर सड़कों की गुणवत्ता बनाए रखने तथा सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को जिला में पेयजल एवं सिंचाई के लिए समुचित जल प्रबंधन के निर्देश भी दिए।
बैठक में जानकारी दी गई कि सोलन जिला में इस वित्त वर्ष में 2700 किसानों को प्राकृतिक खेती के तहत लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आयुष्मान भारत योजना के तहत सोलन जिला में 48 हजार लाभार्थियांे को गोल्डन कार्ड जारी किए गए हैं। योजना के तहत 3000 रोगियों के उपचार पर 2.10 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। हिमकेयर योजना के तहत 48362 लाभार्थियों का पंजीकरण किया गया है। योजना के अन्तर्गत अभी तक 6000 रोगियों को उपचार एवं अन्य सुविधा उपलब्ध करवाने पर 3.50 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं।
बैठक में अन्य विभागों द्वारा भी विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई।
उपायुक्त सोलन के.सी. चमन ने राज्यपाल को सोलन जिला की भौगोलिक परिस्थिति एवं योजना कार्यान्वयन के विषय में अवगत करवाया।
पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा सहित जिला प्रशासन एवं विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Our Visitor

0 2 5 9 0 5
Users This Month : 398
x

Check Also

राज्यस्तरीय शूलिनी मेले में लगाई गई गौवंश प्रदर्शनी, भारतीय नस्लों की गाय ने लिया हिस्सा,स्वास्थ्य मंत्री ने किया शुभारंभ

  राज्यस्तरीय शूलिनी मेले में लगाई गई गौवंश प्रदर्शनी, भारतीय नस्लों की गाय ने लिया ...