Latest Posts

राज्य सहकारी विपणन व उपभोक्ता संघ सेब खरीद में अपना रहा पारदर्शिता

हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी विपणन व उपभोक्ता संघ के एक प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि सरकार द्वारा वर्ष 2020 में मण्डी मध्यस्थता योजना के अन्तर्गत सी-ग्रेड सेब की खरीद के लिए 125 खरीद केन्द्रों पर 9.50 रुपये प्रति किलोग्राम सेब की खरीद की जा रही है।

प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित मापदण्डों के अनुसार खरीदे गए सेब की शिमला जिले के अण्टी और सोलन जिला के परवाणु में नियमानुसार नीलामी की जा रही है। नीलामी समितियों में हिमफैड के अधिकारियों के अतिरिक्त बागवानी विभाग तथा विपणन बोर्ड के अधिकारी शामिल किए गए हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि नीलामी प्रक्रिया पूर्णतः पारदर्शी व वित्तीय नियमों के अन्तर्गत क्रियान्वित की जा रही है, जिसके लिए उड़नदस्तों तथा निरीक्षण दलों का गठन भी किया गया है।

उन्होंने कहा कि सेब फसल की अधिक उत्पादकता हुई है लेकिन साथ ही ओलावृष्टि से वर्ष 2019-20 के अपेक्षा इस वर्ष अपेक्षाकृत सात गुणा फसल खराब हुई है।

उन्होंने कहा कि संघ द्वारा वर्ष 2020 में 20 जुलाई 2020 से 24 अगस्त 2020 तक 17914 सेब की बोरियां खरीदी गई थीं जबकि इस वर्ष इसी अवधि के दौरान 124000 सेब की बोरियां खरीदी गईं हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि सेब की खराब हालत के दृष्टिगत अधिक समय तक इसका भंडारण नहीं किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त कोविड महामारी के कारण दूसरे राज्यों से व्यापारी विक्रय केन्द्रों पर कम संख्या में पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की विभिन्न मंडियों में ए व बी ग्रेड का सेब भी कम दरों पर बेचा जा रहा है। इसके बावजूद हिमफैड यह सुनिश्चित कर रहा है कि सेब के क्रय-विक्रय में पूर्णतः पारदर्शिता अपनाई जाए।