Latest Posts

लक्ष्मण रेखा में रहकर बात करें मुख्यमंत्री, रॉन्ग नंबर ना करें डायल :- अग्निहोत्री

 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को नेता प्रतिपक्ष की नसीहत- लक्ष्मण रेखा में रहकर बात करें मुख्यमंत्री, रॉन्ग नंबर ना करें डायल

CM जयराम को अग्निहोत्री की चुनौती- नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाकर दिखाएं मुख्यमंत्री

शिमला: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का वाक युद्ध लगातार बढ़ता चला जा रहा है. सोमवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की नसीहत के बाद में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने एक बार फिर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर पलटवार किया है. नेता प्रतिवर्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर खुद लक्ष्मण रेखा में रहकर बात करें. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर नेता प्रतिपक्ष पर रॉन्ग नंबर डायल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि भले ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपने मंत्रियों की पूरी सेना उनके खिलाफ लगा दें, लेकिन इससे उन्हें कोई असर नहीं पड़ने वाला.

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि वह सिर पर कफन बांध कर बैठे हुए हैं. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सरकार जाने के डर से विचलित नजर आ रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने बीजेपी नेताओं की ओर से उन्हें सरकार के रहम-ओ-करम पर नेता प्रतिपक्ष बनाए जाने के बयान पर भी पलटवार किया. उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान के अनुसार नेता प्रतिपक्ष के पद पर हैं. यदि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को लगता है, तो वे उन्हें कल सुबह ही नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाने की अधिसूचना जारी कर सकते हैं. उसके बाद प्रदेश की जनता देख लेगी, क्या मुकेश अग्निहोत्री को नेता प्रतिपक्ष मानते हैं या नहीं?

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष और सदस्यों को वित्तीय लाभ देने पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि एक ओर सरकार अग्निपथ योजना के जरिए युवाओं को चार साल में बेरोजगार करने का काम कर रही है. तो वहीं दूसरी ओर आयोग के सदस्यों को वित्तीय लाभ देना दुर्भाग्यपूर्ण है. साथ ही अग्निहोत्री ने आउटसोर्स कर्मचारियों का भी मुद्दा उठाया. नेता पति पक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के कर्मचारी ओल्ड पेंशन स्कीम और आउटसोर्स कर्मचारी स्थाई नीति कर रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री का ध्यान आयोग के सदस्यों को वित्त लाभ देने में है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अब आखरी साल में प्रदेश सरकार बड़ी-बड़ी घोषणाएं कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है, लेकिन अब सरकार के जाने का समय आ गया है.