सरकार, मीडिया तथा जनता के बीच जन सम्पर्क की महत्वपूर्ण भूमिका: कुलदीप धटवालिया

सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा जिला लोक सम्पर्क अधिकारियों, सहायक लोक सम्पर्क अधिकारियों तथा उप-सम्पादकों के लिए आज यहां हिमाचल प्रदेश लोक प्रशासन संस्थान फेयरलाॅन्स में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ किया गया।
पत्र सूचना कार्यालय के प्रधान महानिदेशक कुलदीप सिंह धटवालिया ने जन सम्पर्क में जानकारी एकत्रित करने, अनुसंधान तथा फीडबैक की भूमिका तथा महत्व पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि सरकार, मीडिया तथा जनता के बीच जन सम्पर्क एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ताकि सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं तथा नई पहलों का बेहतर क्रियान्वयन किया जा सके। जन सम्पर्क सरकार की सोच तथा दृष्टिकोण को लोगों तक पहुंचाने में सहायक सिद्ध होता है। उन्होंने आज के आधुनिक तकनीकी युग में सभी मीडिया माध्यमों का उपयोग करने के लिए कहा। उन्होंने जन सम्पर्क अधिकारियों को शिक्षित तथा प्रशिक्षित करने की आवश्यकता पर बल दिया ताकि वे किसी भी तरह की स्थिति से निपुणता से निपट सके। उन्होंने सरकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों की कार्य प्रणाली को बेहतर बनाने में जनता की फीडबैक के महत्व पर भी बल दिया।
अधिकारिक संचार पर कुलदीप सिंह धटवालिया ने कहा कि जन सम्पर्क विभाग सरकार के समन्वयक तथा संचारक के रूप में भूमिका निभाता है, जो महत्वपूर्ण सूचना तथा समाचार मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि जन सम्पर्क अधिकारियों का दृष्टिकोण लोक-आधारित, सूचनाप्रद तथा शिक्षाप्रद होना चाहिए। उन्होंने संकट संचार के विषय पर बताया कि संकट की स्थितियों को कुशलता तथा समझदारी के साथ सम्भालना चाहिए। मीडिया से तथ्यों को न छुपाया जाए ताकि उनके साथ सौहार्द सम्बन्ध बनाए जा सके। उन्होंने कहा कि मीडिया को सही सूचना दी जानी चाहिए।
सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के पूर्व उप-निदेशक तेजु शर्मा ने जन सम्पर्क अधिकारियों को मंच संचालन तथा जन संवाद के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मंच से जनता को कोई महत्वपूर्ण सूचना देते समय जन सम्पर्क अधिकारियों को बहुत सतर्कता एवं दक्षता से कार्य करने की आवश्यकता होती है। कई बार निर्धारित कार्यक्रम में अंतिम क्षणों में होने वाले बदलाव के कारण तत्काल प्रबंधन के लिए भी अधिकारी को सदैव तैयार रहना चाहिए।
तेजु शर्मा ने अति-विशिष्ट व्यक्तियों और मीडिया के साथ समुचित सम्पर्क बनाए रखने के महत्व पर भी विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि एक सफल जन सम्पर्क अधिकारी बनने के लिए विशिष्ट व्यक्तियों और मीडिया से बेहतर सम्पर्क बनाए रखना अनिवार्य है।
इस अवसर पर एक संवादात्मक सत्र का आयोजन भी किया गया, जिसमें अधिकारियों ने भाग लिया।
इससे पूर्व, सूचना एवं सम्पर्क विभाग के निदेशक हरबंस सिंह ब्रसकोन ने आमंत्रित अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम विभागीय अधिकारियों के लिए बहुत उपयोगी साबित होगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा ताकि जन सम्पर्क अधिकारियों की क्षमता को और बढ़ाया जा सके।
वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी शर्मा, हिप्पा की संयुक्त निदेशक ज्योति राणा, सहायक प्राचार्य एवं पाठ्यक्रम समन्वयक डा. राकेश शर्मा, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के संयुक्त निदेशक (प्रशासन) संजय शर्मा एवं संयुक्त निदेशक (प्रेस) प्रदीप कंवर और विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Our Visitor

0 2 5 8 8 5
Users This Month : 378
x

Check Also

सोर ऊर्जा को लेकर जागरूक करने के लिए हिम ऊर्जा ने रोटरी में लगाया ऊर्जा शिविर, ऊर्जा मंत्री ने किया शुभारंभ

सोर ऊर्जा को लेकर जागरूक करने के लिए हिम ऊर्जा ने रोटरी में लगाया ऊर्जा ...