सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू द्वारा पूर्व सरकार के फैसलों के बदलने पर भड़की भाजपा और राजनीतिक बदले की भावना से काम न करने की दी नसीहत

सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू द्वारा पूर्व सरकार के फैसलों के बदलने पर भड़की भाजपा और राजनीतिक बदले की भावना से काम न करने की दी नसीहत

हिमाचल के मुख्यमंत्री का पदभार संभालते ही सुखविंदर सिंह सुक्खू ने पूर्व सरकार के अंतिम 6 महीने में लिए गए फैसलों पर रोक लगा दी है जिस पर भाजपा बढ़ गई है और मुख्यमंत्री को बदले की भावना से कामना करने की नसीहत दी है भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रणदीप शर्मा ने शिमला में पत्रकार वार्ता कर कांग्रेस सरकार के इन फैसलों पर को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है और राजनीतिक द्वेष की भावना से प्रेरित बताया है उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने 5 साल में बिना किसी भेदभाव से काम किया लेकिन कांग्रेस सरकार ने सत्ता में आते ही पूर्व सरकार द्वारा जनहित में लिए गए फैसलों को बदला जा रहा है जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है और भाजपा इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त करने वाली नहीं है उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने जो जनादेश दिया है उसे भाजपा ने स्वीकार किया है और प्रदेश के विकास के लिए सरकार का पूर्ण सहयोग करेगी लेकिन इस तरह से पूर्व सरकार के फैसलों को बदलना बदलेगी तो भाजपा चुप बैठने वाली नहीं है ।
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में हुए विधान सभा चुनावो में जो प्रदेश की जनता ने जनमत दिया है, भाजपा उसे सम्मानपूर्वक स्वीकार करती है ओर प्रदेश की जनता ने जो भाजपा को विपक्ष की भूमिका सौंपी है, भाजपा उसे बखूबी निभाएगी और जनहित के मुद्दों को सरकार के समक्ष उठाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद पहले ही दिन लिए गए निर्णय जनविरोधी हैं, जनता के हितों पर कुठाराघात है। उन्होनें कल जो निर्णय लिया कि 1 अप्रैल, 2022 के बाद पिछली सरकार द्वारा लिए गए निर्णयों की समीक्षा होगी, दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकारें लगातार काम करती है परन्तु इस तरह बदले की भावना से काम करना यह किसी भी सरकार को शोभा नहीं देता और उसमें भी आगे बढ़कर यह बात कहना कि इस दौरान जो नए संस्थान बने या जो संस्थान स्तरोन्न्त हुए उन्हें रद्द करने के तुगलकी फरमान की भारतीय जनता पार्टी कड़ी निंदा करती है।

रणधीर शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने इस निर्णय पर पुर्नविचार करे क्योंकि यह निर्णय प्रदेश की जनता के हित में नहीं है। उन्हें मौका मिला है प्रदेश की जनता की सेवा करने का इसलिए उन्हें प्रदेश व जनहित में निर्णय लेने चाहिए और इसमें भारतीय जनता पार्टी विपक्ष में होते हुए भी उनका सहयोग करेगी परन्तु यदि कांग्रेस पार्टी की सरकार जनविरोधी निर्णय लेती है तो भारतीय जनता पार्टी हर स्तर पर उसका विरोध भी करेगी।
रणधीर शर्मा ने कांग्रेस सरकार चेताते हुए कहा कि यदि कांग्रेस सरकार ने अटल टनल रोहतांग से अटल बिहारी वाजपेयी जी की पट्टिका हटाई तो भारतीय जनता पार्टी सड़कों पर उतर कर इसका पुरजोर विरोध करेगी।