₹100000 रोजगार के लिए बनी कैबिनेट सब कमेटी की बैठक राज्य सचिवालय में हुई संपन्न

शिमल

हिमाचल प्रदेश सरकार ने रोजगारी को लेकर बनाई सब कमेटी की बैठक आज राज्य सचिवालय में हुई. सरकार ने सत्ता में आते समय एक लाख सरकारी नौकरियों के वादा की किया था इसी को लेकर सब कमेटी की बैठक हुई. हर्षवर्धन चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में विभिन्न विभागों से 15 दिन के अंदर विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों की रिपोर्ट मांगी गई और साथ ही उन पदों की जानकारी भी मांगी गई जिन पदों पर भर्ती के लिए सूचना हुई लेकिन भर्ती नहीं हुई. इसके अलावा बैठक में भर्तियों की वजह से सरकार पर पड़ने वाले आर्थिक बोझ का भी ब्योरा मांगा गया.

कमेटी में हर्षवर्धन चौहान के साथ रोहित ठाकुर और जगत सिंह नेगी भी शामिल है, हालांकि जगत सिंह नेगी बैठक से नदारद रहे. बैठक में सरकारी दफ्तरों में भर्तियों पर विचार विमर्श हुआ. बैठक के बाद हर्षवर्धन चौहान ने जानकारी देते हुए कहा कि सभी विभागों में खाली पड़े पदों की जानकारी मांगी गई है साथ ही ऐसे पदों की जानकारी दी गई है जिन पदों पर भर्ती के लिए सूचना हुई मगर पदों पर भर्ती नहीं हुई. इसके अलावा हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि 5 साल में एक लाख नौकरी देने का वादा है जिसे पूरे कार्यकाल में बांटे तो हर साल 20 हज़ार नौकरियां दी जाएगी. इसके लिए भी ने विभागों से पूछा गया है कि इसकी वजह से हर वर्ष कितने रुपए का आर्थिक बोझ पड़ेगा. उद्योग मंत्री ने कहा कि विभागों से 15 दिनों में रिपोर्ट मांगी गई है और इसको लेकर ब्रॉड आउट लाइन तैयार कर ली गई है.